• राजेश तिवारी,मुंबई

मराठा आरक्षण: एक और शख्स ने की खुदकुशी, अब तक 5 की मौत


मुंबई मराठा आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र में खुदकुशी का एक और मामला सामने आया है। महाराष्ट्र के नांदेड जिले में 38 वर्षीय व्यक्ति ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। मामले की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुंबई से करीब 570 किमी दूर नांदेड के धाबाद गांव में काचरू कल्याणे नाम के शख्स ने अपने घर में पंखे से फांसी लगा ली। कल्याणे ने उस समय फांसी लगाई जब उनके घर के सदस्य कुछ काम से बाहर गए हुए थे। उन्होंने बताया कि काचरू के शव के पास मिले सूइसाइड नोट में लिखा है कि वह आरक्षण के लिए मराठा समुदाय की मांग को लेकर अपनी जिंदगी खत्म कर रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि पुलिस सूइसाइड नोट की प्रमाणिकता की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि शव परिवार को सौंप दिया गया है और उसी दिन अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस घटना के साथ ही नौकरी में आरक्षण की मांग को लेकर मराठा समुदाय के आंदोलन के दौरान पिछले हफ्ते से लेकर अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है। पुलिस ने बताया कि इस मुद्दे पर औरंगाबाद में एक व्यक्ति ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। औरंगाबाद में प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे 28 वर्षीय प्रमोद होरे पाटील ने ट्रेन के सामने छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने बताया कि प्रमोद ने रविवार को फेसबुक और वॉट्सऐप पर लिखा था कि वह आरक्षण की मांग के समर्थन में अपनी जान दे देगा। इस पोस्ट के बाद उनकी तलाश शुरू की गई। मुंकुंदवाडी स्टेशन के बाहर उसका शव मिला था। एक कॉन्स्टेबल सहित अब तक 5 की मौत इससे पहले दो व्यक्तियों ने पिछले हफ्ते आत्महत्या की थी जबकि वहीं एक कॉन्स्टेबल की ऑन ड्यूटी हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी। दरअसल पिछले हफ्ते औरंगाबाद में पुलिस बंदोबस्त के दौरान कॉन्स्टेबल लक्ष्मण पाटगांवकर की हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी। इधर, मराठा संगठनों ने कहा कि उनकी आरक्षण की मांग के समर्थन में नौ अगस्त को मुंबई में एक महारैली की जाएगी। मराठा आरक्षण को लेकर उबाल एक बार फिर शुरू हो गया है। मंगलवार को पुणे में आरक्षण को लेकर जारी आंदोलन ने हिंसक शक्ल ले ली। इसके चलते यहां चाकण इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई थी हालांकि मामला शांत होने पर शाम को धारा 144 हटा दी गई। अचानक भड़की हिंसा बता दें कि पुणे-नासिक मार्ग पर पुणे से करीब 40 किलोमीटर दूर चाकण में मराठा आरक्षण आंदोलन के दौरान अचानक हिंसा भड़क गई थी। प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर टायर जलाकर रास्ता रोका। फोटो खींच रहे 100 से अधिक लोगों के मोबाइल फोन भी तोड़ दिए। स्थिति से निपटने के लिए धारा 144 लगा दी गई और मोबाइल नेटवर्क बंद कर दिया गया। हिंसा प्रभावित इलाकों में रैपिड ऐक्शन फोर्स भेजी गई। आंदोलन को देखते हुए पुणे से नासिक जाने वाली बस सेवाएं रद्द कर दी गईं, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ी।


0 व्यूज

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.