• कर्म कसौटी

महाराष्ट्र दूधबंदी: पुलिस के पहरे में दूध के टैंकर से सप्लाइ, आज हो सकती है किल्लत


मुंबई

महाराष्ट्र में दूध उत्पादक किसानों द्वारा सोमवार से 

शुरू किए गए आंदोलन के कारण मंगलवार को मुंबई समेत कई शहरों में दूध की कमी हो सकती है। किसानों के आंदोलन के बीच पुलिस के पहरे में दूध के टैंकरों को राज्य के दूसरे शहरों में भेजा जा रहा है। जहां एक ओर राज्य सरकार का दावा है कि मुंबई में 15 दिनों का दूध भंडार मौजूद है, वहीं दूसरी ओर दुग्ध उत्पादक किसानों के तेवर बता रहे हैं कि आने वाले दिनों में दूध की किल्लत बढ़ने के आसार हैं। सोमवार को आंदोलनकारियों ने मुंबई, पुणे, नागपुर, नासिक और अन्य प्रमुख शहरों को जा रहे दूध के टैंकरों को राज्य के विभिन्न हिस्सों में रोककर विरोध प्रदर्शन किया। इससे शहरों की दुग्ध आपूर्ति प्रभावित हुई है। MILK SUPPLY2 पहरे में भेजे गए एक दर्जन दूध टैंकर आंदोलन जारी रहने पर नासिक और कोल्हापुर से मुंबई के लिए करीब एक दर्जन दूध टैंकर सशस्त्र पुलिस के पहरे में भेजे गए। लाखों लीटर दूध से लदे टैंकरों को पुणे, नासिक, कोल्हापुर, सांगली, बीड, पालघर, बुलढाणा, औरंगाबाद और सोलापुर में रोककर सड़कों पर खाली कर दिया गया। अमरावती के निकट एक टैंकर में आग लगा दी गई। '15 दिनों का भंडार मौजूद' इस बीच राज्य के पशुपालन और डेयरी विकास मंत्री महादेव जानकर का कहना है, 'मुंबई में दूध का 15 दिनों का पर्याप्त भंडार है। मुंबई को रोज 7 लाख लीटर ताजा दूध की जरूरत होती है। हम मुद्दे को हल करने की कोशिश कर रहे हैं।' 5 रुपये प्रत्यक्ष सब्सिडी की मांग आंदोलन की अगुआई कर रहे सांसद और स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के अध्यक्ष राजू शेट्टी ने कहा, 'हम गोवा, कर्नाटक और केरल की तरह किसानों के लिए पांच रुपये की प्रत्यक्ष सब्सिडी की मांग कर रहे हैं।' DAIRY क्या हैं मांगें स्वाभिमानी शेतकरी संगठन और महाराष्ट्र किसान सभा के नेतृत्व में दूध उत्पादक किसान दूध पर पांच रुपये प्रति लीटर सब्सिडी और मक्खन व दूध पाउडर पर जीएसटी में छूट की मांग कर रहे हैं। बता दें कि सरकार 20 जुलाई से दूध उत्पादकों को तीन रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी देने के लिए तैयार है। महाराष्ट्र का डेयरी उद्योग 15000 सहकारी डेयरी सोसाइटियां हैं महाराष्ट्र में 85 सहकारी डेयरी संघ 98 दूध प्रसंस्करण संयंत्र 192 दूध कोल्ड स्टोरेज 


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.