• राहुल प्रताप

ताजमहल के दरवाजे पे चले हथोड़े


आगरा

ताज महल के दरवाजे पर चले हथौड़े ASI पुरातत्व विभाग ने खुफिया रास्ते बंद किए शिव प्राचीन जाने वाला रास्ता रोका क्या ताजमहल के दरवाजे ने मंदिर का रास्ता जाता था क्या ताजमहल का वह रास्ता शिव मंदिर से कनेक्शन था पुरातत्व विभाग ने जब रास्ता बंद किया तो हिंदूवादी संगठनों ने बवाल खड़ा कर दिया मामला तूल पकड़ता देख पुलिस पहुंची दरवाजा तोड़ने के बाद पुलिस ने हिंदूवादी संगठनों पर केस दर्ज कर लिया हैविश्व प्रसिद्ध आगरा के ताजमहल को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है. विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के कार्यकर्ताओं ने ताज महल के पश्चिमी गेट को गिराने की कोशिश की है. उनका दावा है कि यह गेट 400 साल पुरान हिंदू मंदिर जाने के रास्ते को ब्लॉक कर रहा है इसलिए इसे तोड़ा जाना चाहिए. यह घटना ताज महल के पश्चिमी गेट से 300 मीटर की दूरी (बसई घाट) की है. रिपोर्ट के मुताबिक, एएसआई के लोग गेट के पास टर्नस्टाइल गेट और मेटल डिटेक्टर के लिए फ्रेम तैयार कर रहे थे, तभी वीएचपी के कार्यकर्ता वहां आए और उन्होंने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया.वीएचपी के सदस्यों ने पहले गेट के पास प्रदर्शन किया बाद में इसे तोड़ने की कोशिश की. रिपोर्ट के मुताबिक, वीएचपी के सदस्य हथौड़े और लोहे के रॉड से लैस थे और उन्होंने इससे गेट को तोड़ने की कोशिश की. इस दौरान उन्होंने टर्नस्टाइल गेट को वहां से हटा दिया और एएसआई के खिलाफ नारेबाजी की. पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने वीएचपी के 25-30 सदस्यों के खिलाफ दंगे भड़काने का केस दर्ज किया है.ताज सुरक्षा सर्किल अफसर प्रभात कुमार ने कहा, रविवार को वीएचपी के 25-30 कार्यकर्ता ताज महल के पश्चिमी गेट पर पहुंचे और वहां नए लगे टर्नस्टाइल गेट को तोड़ने की कोशिश करने लगे. प्रदर्शनकारियों के हाथ में हथौड़े और लोग के रॉड थे. उन्होंने गेट को हटा कर फेंक दिया. इस दौरान ताज सुरक्षा की टीम मौके पर पहुंची और उन्हें ऐसा करने से रोका गया.विश्व हिंदू परिषद का लोगोविश्व हिंदू परिषद का लोगो ASI ने 25-30 सदस्यों के खिलाफ दंगा भड़काने का किया केस दर्जपुलिस ने वीएचपी कार्यकर्ताओं से बात कर उन्हें सिद्धेश्वर महादेव मंदिर जाने के दूसरे रास्ते के बारे में बताने की कोशिश की. लेकिन वो इसे मानने को तैयार नहीं थे. इस मामले में रवि दुबे, मदन वर्मा, मोहित शर्मा, निरंजन सिंह राठौर, गुल्ला समेत वीएचपी के 25 अज्ञात कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. हालांकि अभी तक किसी भी इसमें गिरफ्तारी नहीं हुई है.इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए वीएचपी के बृज प्रांत विशेष संपर्क प्रमुख रवि दुबे ने कहा, ताज महल के पश्चिमी दीवार से सटे सिद्धेश्वर महादेव मंदिर को जाने के लिए यह रास्ता है. लेकिन जो गेट बनाया गया है उससे मंदिर जाने का रास्ता प्रभावित हो रहा है. सिद्धेश्वर महादेव मंदिर 400 साल पुराना है. इसका अस्तित्व ताज महल से भी पुराना है.


1 व्यू

                                           KarmKasauti

                            Kanpur Uttar Pradesh

          Email: karmkasauti@gmail.com

   Copyright 2018. All Rights Reserved.